आधार कार्ड से सिबिल स्कोर कैसे चेक करें?

जब आपको कोई बड़ा खर्चा करना होता है जैसे गाड़ी खरीदना या विदेश पढ़ने जाना, तो हो सकता है आपको पैसे जुटाने के लिए लोन लेना पड़े। जब आप लोन आवेदन देते हैं तो लोन कंपनियां बहुत सारी बातों के आधार पर निर्णय यह लेती है कि आपको लोन देना चाहिए या नहीं, कितनी राशि का लोन देना चाहिए, किस ब्याज दर पर लोन लेना चाहिए, आदि। 

आपके लोन के स्वीकृत या अस्वीकृत होने में आपका सिबिल स्कोर बहुत अहम भूमिका निभाता है। अगर आप आधार कार्ड से सिबिल चेक करना चाहते हैं तो आपको पैन कार्ड की भी ज़रूरत पड़ेगी। 

सिबिल स्कोर क्या है

सिबिल स्कोर एक नंबर होता है जिससे बैंक और एनबीएफसी को पता चलता है कि लोन आवेदक ने अतीत में अपने पुराने लोन और क्रेडिट कार्ड का भुगतान कितना सही से किया। है किसी भी व्यक्ति का सिबिल स्कोर उसके कर्ज़ चुकाने के इतिहास के आधार पर बनाया जाता है।  

सिबिल स्कोर 300 से 900 के बीच होता है। यह स्कोर जितना ज़्यादा होता है, लोन या क्रेडिट कार्ड मिलने की संभावना उतनी ही बढ़ जाती है। अगर किसी व्यक्ति का सिबिल स्कोर कम है तो उसे लोन मिलने में परेशानी हो सकती है, और अगर मिलता भी है तो ज़्यादा ब्याज दर देना पड़ सकता है। 

सिबिल स्कोर का महत्व

आपका सिबिल स्कोर यह बताता है कि आप अपने लोन का भुगतान कितनी ज़िम्मेदारी से करते हैं। जब बैंक या एनबीएफसी यह देखती हैं कि आपका सिबिल स्कोर अच्छा है तो उन्हें आपको लोन देना कम जोखिम भरा लगता है। इससे यह फायदा होता है कि आपकी लोन स्वीकृति की संभावना बढ़ जाती है। अच्छा सिबिल स्कोर होने पर कागज़ी कार्रवाई भी कम हो सकती है और कम ब्याज दर पर भी लोन मिल सकता है। 

अगर सिबिल स्कोर अच्छा हो तो प्रीमियम क्रेडिट कार्ड मिलने की संभावना बढ़ जाती है। इसके बहुत फायदे होते हैं जैसे एयर माइल, डिस्काउंट, कैशबैक, ट्रेवल इंश्योरेंस, एयरपोर्ट लाउंज एक्सेस, आदि.

आधार कार्ड और सिबिल स्कोर का संबंध

आधार कार्ड भारत सरकार द्वारा जारी किया गया 12 अंकों का पहचान पत्र है जबकि सिबिल स्कोर आपकी क्रेडिट योग्यता दर्शाता है। 

भारत में आधार कार्ड और सिबिल स्कोर दोनों ही लोन लेने की प्रक्रिया में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं मगर इनके बीच कुछ सीधा संबंध नहीं है। न तो कोई क्रेडिट ब्यूरो सिबिल स्कोर की गणना करने के लिए आधार कार्ड का प्रयोग करता है, न ही सिबिल स्कोर चेक ऑनलाइन फ्री में करने के लिए आधार कार्ड अनिवार्य होता है. हालाँकि, आप अपना क्रेडिट स्कोर चेक करने के लिए सिबिल या किसी अन्य वेबसाइट पर जाते हैं तो वहां अपने पैन और अन्य जानकारी के साथ पहचान प्रमाण देने के लिए आधार कार्ड का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

लोन लेने के लिए सिबिल कितना होना चाहिए?

लोन स्वीकृति बहुत सारी बातों पर निर्भर करती है जिसमें से सिबिल स्कोर भी एक कारक है। आमतौर पर अगर आपका सिबिल स्कोर 700 से ऊपर होता है तो उसे अच्छा स्कोर माना जाता है और लोन मिलने की उम्मीद रहती है। 

यह लोन के प्रकार पर भी निर्भर करता है कि लोन के लिए कम से कम कितना सिबिल स्कोर होना ज़रूरी है। जैसे जो बिना गारंटी वाले लोन होते हैं जैसे क्रेडिट कार्ड या असुरक्षित पर्सनल लोन, उसमें लोन कंपनी ज़्यादा जोखिम उठा रही होती है। इस वजह से सिबिल स्कोर ज़्यादा महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और इसके लिए अच्छा सिबिल स्कोर होना ज़्यादा ज़रूरी होता है। वहीँ गारंटी वाले लोन कम  सिबिल स्कोर पर भी मिल सकते हैं। 

यह भी पढ़ें: आधार कार्ड पर पर्सनल लोन कैसे लिया जा सकता है?

आधार कार्ड से सिबिल कैसे चेक करें?

आप अपने आधार कार्ड को पहचान प्रमाण के रूप में प्रयोग कर सकते हैं। पर अपना सिबिल स्कोर चेक करने के लिए पैन क्रमांक देना अनिवार्य होता है। आप ये प्रर्किया पूरी करके अपना सिबिल स्कोर चेक कर सकते हैं –

  1. https://www.cibil.com पर जाएं और “फ्री सिबिल स्कोर और रिपोर्ट पाएं पर क्लिक करें। ”
  2. वहां अकाउंट बनाने के लिए अपना नाम और ईमेल लिखें और पासवर्ड सेट करें। 
  3. अपना पैन नंबर और अन्य निजी जानकारी जैसे जन्म तिथि, मोबाइल नंबर, पिन कोड, आदि दें। 
  4.  अपना सिबिल अकाउंट बनाने के बाद रजिस्टर्ड नंबर से ओटीपी वेरिफिकेशन करें और पहचान सत्यापन प्रक्रिया (Identity verification process) पूरी करें। 
  5. इसके बाद लॉग इन करें और अपना सिबिल स्कोर चेक कर लें। 

आधिकारिक वेबसाइट का उपयोग

सिबिल की आधिकारिक वेबसाइट के अलावा ऐसी कई जगहें हैं जहाँ से आप अपना क्रेडिट स्कोर पता कर सकते हैं। बहुत सारी बैंक और एनबीएफसी अपनी वेबसाइट या एप के द्वारा क्रेडिट स्कोर चेक करने की सेवा देती हैं। जैसे अगर आप ज़ाईप एप डाउनलोड करके अपना अकाउंट बनाते हैं तो आप उसपर मुफ्त में अपना क्रेडिट स्कोर और क्रेडिट संबंधित अन्य जानकारी ट्रैक कर सकते हैं। ज़ाईप एप से 5 मिनट से कम में ₹5,00,000 तक का पर्सनल लोन मिलता है। अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें। 

यह भी पढ़ें: आधार कार्ड पर 50000 का लोन कैसे मिलता है

ऐप्लिकेशन के माध्यम से सिबिल स्कोर की जाँच 

आपको गूगल प्ले स्टोर या एप्पल एप स्टोर पर कई सारी ऐप मिल जाएंगी जिनके द्वारा आप अपना सिबिल स्कोर चेक कर सकते हैं। आप वहां “सिबिल स्कोर चेक ऑनलाइन फ्री,”चेक सिबिल स्कोर” या ऐसा कुछ सर्च कर सकते हैं। 

पर आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि आप एक वैध एप चुनें और किसी स्कैम में न फंस जाएं। इसके लिए आप किसी क्रेडिट ब्यूरो या विश्वसनीय बैंक, एनबीएफसी और एग्रीगेटर की एप ही डाउनलोड करें।  

सिबिल स्कोर चेक फ्री में करने वाली कोई भी ऐप डाउनलोड करने से पहले यूजर रिव्यू और रेटिंग ज़रूर देखनी चाहिए। आपको इन सब बातों पर ध्यान देना चाहिए जैसे डेटा सुरक्षा, ग्राहक सहायता, छिपे शुल्क, आदि। अगर रेटिंग कम है या नकारात्मक रिव्यु हैं तो उस एप को डाउनलोड न करें। आपको यह भी देखना चाहिए कि आपसे कौन-कौन सी अनुमतियाँ (Permissions) मांगी जा रही हैं। ज़रूरत से ज़्यादा अनुमतियाँ मांगने वाली एप खतरे की घंटी है। 

क्या होगा यदि आपका क्रेडिट स्कोर खराब है?

आपका क्रेडिट स्कोर जितना कम होगा, किसी भी बैंक या एनबीएफसी को आपको पैसा उधार पर देना उतना ही ज़्यादा जोखिम भरा लगेगा। इसकी वजह से लोन कंपनियां आपका आवेदन स्वीकार करने में हिचकिचाएंगी। तो या तो आपका लोन आवेदन अस्वीकृत हो जाएगी और अगर आपको लोन मिलता भी है तो आपको ज़्यादा ब्याज दर पर लोन मिलेगा। इसलिए आपको समय-समय पर बैंक और एनबीएफसी की चेक सिबिल स्कोर सेवा का फायदा उठाना चाहिए। 

तुरंत सिबिल स्कोर कैसे सुधारें?

अगर आप अपना सिबिल स्कोर बढ़ाना चाहते हैं तो उसके लिए सबसे ज़रूरी यह होता है कि अपनी सारी लोन की किश्तों और क्रेडिट कार्ड के बिलों का भुगतान समय पर करें। जब बात रीपेमेंट की आती है तो ज़रा सी भी देरी से क्रेडिट स्कोर पर बुरा असर पड़ सकता है। तो अगर अभी कोई ईएमआई बकाया है तो उसे तुरंत चुका दें। जितनी देरी करेंगे, स्कोर उतना कम होगा। आप भुगतान करने के लिए ऑटो-डेबिट फीचर का प्रयोग कर सकते हैं या फोन पर भुगतान की तारिख का रिमाइंडर सेट कर सकते हैं। आपको यह भी सुनश्चित करना चाहिए कि कम समय में बहुत सारे लोन या क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन न दें क्योंकि उससे भी सिबिल स्कोर कम होता है। 

सिबिल स्कोर रेंज 

सिबिल स्कोर 300 से 900 के बीच होता है जिसमें 300 सबसे ख़राब और 900 सबसे अच्छा माना जाता है। आइये इस स्कोर की रेंज को बेहतर रूप से समझते हैं –

बेहतरीन (800-900) – यह सबसे बढ़िया स्कोर माना जाता है। जिसका स्कोर इस रेंज में होता है उसे आसानी से लोन और क्रेडिट कार्ड पर अच्छे ऑफर मिलने की संभावना रहती है। 

अच्छा (650-799) – इस रेंज के स्कोर वाले लोगों को भी भरोसेमंद माना जाता है और लोन मिलने की संभावना रहती है। बस इसमें ब्याज दर थोड़ा ज़्यादा हो सकता है

ख़राब (300-649) – अगर किसी का स्कोर इस दायरे में आता है तो उसे लोन लेने में परेशानी होगी या बहुत ज़्यादा ब्याज पर पैसा उधार मिलेगा।  

अब आप जान गए हैं कि सिबिल स्कोर कैसे चेक करें और कैसे उसका आंकलन करें। 

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

आधार कार्ड से सिबिल चेक करने के लिए क्या आवश्यकता है?

आप किसी भी क्रेडिट ब्यूरो, बैंक या एनबीएफसी में आधार कार्ड को पहचान प्रमाण के रूप में प्रयोग करके अकाउंट बना सकते हैं पर सिबिल चेक करने के लिए आपको पैन कार्ड की जानकारीन अनिवार्य होती है। आप सिबिल स्कोर चेक फ्री में भी कर सकते हैं। 

आधार कार्ड से सिविल कैसे चेक करें?

आधार कार्ड का सिबिल चेक से कोई सीधा संबंध नहीं है। आप सीर्फ उसका उपयोग बतौर पहचान प्रमाण कर सकते हैं। 

क्या आधार कार्ड से सिबिल स्कोर चेक करने के लिए कोई शुल्क लगता है?

कई ऐसी वेबसाइट और एप हैं जहाँ आप आधार कार्ड और पैन कार्ड की मदद से बिना कोई शुल्क दिए अपना सिबिल चेक कर सकते हैं। 

सिबिल स्कोर में गलतियों को सुधारने के लिए क्या करें?

इसके लिए आपको सिबिल की आधिकारिक वेबसाइट पर अकाउंट बनाना पड़ेगा और विवाद अनुरोध फ़ॉर्म भरना पड़ेगा। सिबिल वेबसाइट के अनुसार इस पूरी प्रक्रिया में 30 दिन तक लग सकते हैं। 

मेरा आधार कार्ड मेरे सिबिल स्कोर के साथ कैसे जोड़ा जा सकता है?

आधार कार्ड और सिबिल स्कोर को नहीं जोड़ा जा सकता है। 

क्या सिबिल स्कोर जाँचने के लिए आधार कार्ड अनिवार्य है?

नहीं, आप बिना आधार कार्ड के भी सिबिल स्कोर चेक ऑनलाइन फ्री में कर सकते हैं।